Wednesday, April 11, 2012

सुषमा नैथानी की कवितायें

बारिश के बाद बडी सुकूनदेह है ये गीली धूप
ये घुले-घुले और धुले-से सन्नाटे में ठहरे पल
आसमान पर धूप के अक्षरों से कविता लिखने की हिमाकत कर सकने वाली सुषमा नैथानी से मेरा परिचय लगभग दस वर्ष पूर्व इंटरनेट में नैथानी वंश नाम ढूंढने की सहज उत्कंठा के परिणाम-स्वरूप हुआ…बाद में ब्लाग की दुनिया में विचरते हुए सुषमा के कवि रूप से मुलाकात हुई!अमेरिकाअ में जीव-विग्यान में शोध और अध्यापन से जुडी सुषमा का कविता संग्रह “उडते हैं अबाबील” हाल ही में अन्तिका प्रकाशन से आया है. सुषमा की कविताओं में संवेदना की कताई बरबस ध्यान खींचती आई.इस संग्रह से कुछ कवितायें प्रस्तुत हें
(नवीन कुमार नैथानी)
आगंतुक
एक दिन अचानक
चला आया प्रेम दबे पांव
समूचे चौकन्नेपन के बावजूद
सहूलियत नहीं छोडी उसने
एक सिरे से खारिज होने की
नहीं बैठता किसी ठौर
किसी औने-कोने ठीक
शब्द
शब्द तुम
मेरे पास आना तो कौतुक छोडे आना
न आना बुझव्वल की तरह
आना कभी मेरी गली तो
आजमाए जुमलों की शक्ल में न आना
न गुजरना नारों की तरह
आओ तो अपने पूरे अर्थ में आना
काले पनियल बादल-सा आना
बिसार देना शब्दकोश और कुंजियां
व्यंजना व्याकरण नदी के तीर बहा आना
अटरम-पटरम,साज-सामान सब
बेस कैम्प पर ही छोडे आना
पामीर की ऊंचाई तक न भी बने
तब भी कुछ ऊंचाई तक चले आना
सपनों की रंगत में
उदासी और उल्लास बन
अपने अंतर का संगीत लिये आना
किसी राग की तरह आना
मनभावन गीत बन आना
शब्द अपने पूरे अर्थ में आना तुम…
बंटवार
किसी अबाबील की तरह
दिन उडते हैं
पंजों में दबाये जीवन
हर रोज कुछ शब्द बचे रहते
कुछ प्यार बचा रहता
सत्रह इच्छायें सर उठाती हैं
उसी का बंटवार है
उसी में कुछ बचे रहते हम…

9 comments:

batkahi said...

shabd - is kavita men anchhue khurdurepan ke prati bachchon jaisi manuhaar sachmuch chakit karti hai....sushmaji ko salaam

yadvendra,roorkee

अजेय said...

अपने पूरे अर्थ के साथ आना

Onkar said...

sundar prastuti

स्वप्नदर्शी said...

shukriya!

Hotels in Ajmer said...

I was very encouraged to find this site. I wanted to thank you for this special read. I definitely savored every little bit of it and I have bookmarked you to check out new stuff you post.

Ajmer hotels said...

Good efforts. All the best for future posts. I have bookmarked you. Well done. I read and like this post. Thanks.

Ajmer resorts said...

Thanks for showing up such fabulous information. I have bookmarked you and will remain in line with your new posts. I like this post, keep writing and give informative post...!

Ajmer hotels list said...

The post is very informative. It is a pleasure reading it. I have also bookmarked you for checking out new posts.

Ajmer Hotel Rates said...

Thanks for writing in such an encouraging post. I had a glimpse of it and couldn’t stop reading till I finished. I have already bookmarked you.