Monday, July 28, 2008

कबाड़खाना: 'लोकसरस्वती' का लोकसंगीत - दो प्रस्तुतियां

कबाड्खाने पर यह लोकगीत निश्चित ही इतना सुंदर है कि इसे मै बार बार सुनना चाहूंगा, बस इसी लिये लिंक किये दे रहा हूं. आप भी सुनिये.
कबाड़खाना: 'लोकसरस्वती' का लोकसंगीत - दो प्रस्तुतियां

1 comment:

प्रभाकर पाण्डेय said...

वास्तव में बहुत ही रोचक और सुंदर। बधाई इन गीतों के लिए।